मऊरानीपुर (झाँसी) – भारतीय किसान यूनियन (भानु) के तत्वाधान में शिव नारायण सिंह परिहार बुन्देलखण्ड अध्यक्ष के नेतृत्व में सकरार रोड के किनारे किसानों ने किसानों की ज्वलन्त पूर्ण समस्याओं को लेकर किया जंगी प्रदर्शन। किसान नाथूराम अहिरवार ने कहा कि साहब आवास नही मिला गरीब आदमी हूँ मेरी कोई नही सुनता राशन कार्ड है लेकिन राशन नही मिल रहा है। हमारी कोई सुनने वाला नही है। यूनियन के बुन्देलखण्ड अध्यक्ष शिवनारायण सिंह परिहार ने कहा कि केन्द्र सरकार से माँग की कि देश के सभी किसानों का सरकारी ऋण माफ करें। अन्ना जानवरों से किसानों की फसलों को बचाया जाये। और हर न्याय पंचायत स्तर पर गौशाला बनायी जाये। 60 वर्ष पूर्ण कर चुके किसानों को पाँच हजार हर माह पेंशन दिया जाये। किसानों का किसान आयोग गठन किया जाये किसानों की फसलों का वाजिब दाम दिया जाये। बुन्देलखण्ड पाँच वर्षो से प्राकतिक आपदाओं के चलते बर्बाद है। यहाँ का किसान कर्ज में इतना दब चुका है। कि आत्महत्या करने को मजबूर है। किसानों को बुन्देलखण्ड में बिजली , पानी, विधुत कनेक्शन फ्री दिया जाये। सरकारी योजनाओं का किसानों को इस समय खाद पानी की आवश्यकता है। वो भी समय पर नही मिल रहा है। धरना की अध्यक्षता गोबिन्द दास प्रजापति ने की। उन्होनें कहा कि क्षेत्र में किसानों के लिये कोई व्यवस्था नही किसान बुआई के समय में दर- दर की ठोकर खा रहा है। किसान को कुछ नही मिल रहा है। किसान परेशान है किसान करे तो करे क्या । धरना स्थल पर सकरार थाना प्रभारी बी. एल. यादव को किसानों की समस्याओं का ज्ञापन दिया गया। मौके पर भारी पुलिस बल मौजूद रहा। ज्वलन्त पूर्ण समस्या झाँसी से खजुराहों मार्ग पर बनने वाले हाईवे में जिन किसानों की जमीन व मकान रोड के लिये सरकार जमीन आदि ग्रहित की जा रही है। उन किसानों का मुआवजा नये सर्किल रेट 2018 के हिसाब से दिया जाये। अगर ऐसा नही होता है। तो किसान मजबूर होकर उग्र आन्दोलन करेगें। जिसकी जिम्मेदारी शासन की होगी। धरना प्रदर्शन के अवसर पर उपस्थित किसान गन्नु कुशवाहा, देवेन्द्र सोनी, दीपेन्द्र सिंह, विकाश सिंह, चन्द्रभान सिंह, अनुराग सिंह, रानु राजा, वीरु तोमर, भीकम सिंह, विक्की चौहान, गोबिन्द दास प्रजापति, लक्ष्मण , दयाराम , भइया लाल, विजय सिंह, प्रवीण भदौरिया, भगवत नारायण , नरेश जैन, भारत सिंह, पर्वत सिंह, राम गुलाम , रामाधार निषाद, जोधे कुशवाहा, लल्लू कुशवाहा, छत्रपाल सिंह, संजय, पहलवान विश्वकर्मा, सियाराम , बिहारी लाल, राजू साहू, सोवरन कुशवाहा, हरिश्चन्द्र पत्रकार, प्रिन्स जैन, राजबहादुर, जगदीश, पहलवान आदिवासी , दयाल कुशवाहा , हरगोबिन्द , गंगाराम आदि सैकडों किसान मौजूद रहे। संचालन प्यारे लाल कुशवाहा बेधडक ने किया। रिपोर्ट_सौरभ भार्गव अनुभवी आँखें न्यूज मऊरानीपुर ।updated by gaurav gupta

loading...