कांडी(संवाददता-विवेक चौबे) -प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत प्रसिद्ध सतबहिनी झरना तीर्थ स्थल प्राकृतिक धरोहर है।इस स्थल को कुछ नेताओं द्वारा राजनीतिक स्थल बना दिया गया है।इस विषय को लेकर मुखिया मीना देवी ने ग्रामीणों के साथ कि बैठक।राजीनीतिक नेताओं के द्वारा किसी न किसी विषय पर चर्चा किया जाता है।जब भी कोई चर्चा की जाती है तो वह राजीनीतिक का मुद्दा होता है।उक्त विषय की जानकारी देते हुए मुखिया संघ अध्यक्ष सह सरकोनी मुखिया-मीना देवी ने जानकारी देते हुए बताया।मीना देवी ने विरोध करते हुए कहा कि यह तीर्थ स्थल को राजनीतिक स्थल में परिवर्तन नहीं होने दूंगी।मैं किसी भी नेताओं को अगली बार राजनीतिक विषय पर चर्चा नहीं होने दूंगी।मैं देवस्थल को राजनीतिक स्थल के रूप में परिवर्तन कदापि नहीं होने दूंगी।यदि किसी नेता का आगमन होता है तो केवल इस धार्मिक स्थल में भ्रमण करने,पूजा अर्चना व आनंद केउद्देश्य से होना चाहिए न कि राजनीतिक पर चर्चा के लिए।यदि ऐसा हुआ तो मैं सभी पंचायत के लोगों को लेकर नेताओं से निपटने को विवश होउंगी।सभी पंचायत के लोग इसके लिए सदैव तैयार हैं व रहेंगे।साथ हीं मुखिया पति-अरुण सिंह ने कहा कि यह स्थल एक सौन्दर्यवान है,जहां की राजीनतिक नेताओं द्वारा लगातार अपने स्वार्थ व अपने राजनीतिक विषय पर चर्चा की जाती है।बहुत हुआ,अब ऐसा नहीं होगा।यदि ऐसा किसी नेताओं के द्वारा किया जाएगा तो पंचायत के लोगों को लेकर विरोध करने पर विवश होंगे।बताते चलें कि यह झरना तीर्थ स्थल यहां के लोगों के लगातार मेहनत से 17 वर्षों में इसका सुंदर रूप मिला है।updated by gaurav gupta

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here